सर्वनाम किसे कहते हैं |Sarvanam Kise Kahate Hain सर्वनाम की परिभाषा, भेद और उदाहरण

सर्वनाम की परिभाषा उदाहरण और भेद ,सर्वनाम किसे कहते हैं  |Sarvanam Kise Kahate Hain, सर्वनाम से हर एग्जाम में 1 या 2 प्रश्न हमेशा ही पूछे जाते है | जिसे अच्छे से समझाना बहुत जरुरी होता है |

सर्वनाम किसे कहते हैं |Sarvanam Kise Kahate Hain

Table of Contents

सर्वनाम किसे कहते हैं
सर्वनाम किसे कहते हैं |सर्वनाम की परिभाषा, भेद और उदाहरण

सर्वनाम (Sarvnam)

संज्ञा शब्दों के स्थान पर प्रयुक्त होने वाले शब्दों को सर्वनाम (Sarvanam) कहते हैं। सर्वनाम एक विकारी शब्द है। सर्वनाम शब्द दो शब्दों से मिलकर ‘सर्व’ और ‘नाम’ के संयोग से बना है, जिसका शाब्दिक अर्थ होता है सबका नाम , सर्वनाम का रुपांतरण वचन और कारक की वजह से होता है, लेकिन सर्वनाम का रुपांतरण लिंग की वजह से कभी नहीं होता है।

सर्वनाम किसे कहते हैं | Sarvanam Kise Kahate Hain

सर्वनाम की परिभाषा:- सब नामों (संज्ञाओ) के बदले जो शब्द आए,वह सर्वनाम है यानि संज्ञा के स्थान पर प्रयुक्त होने वाले शब्दों के सर्वनाम कहते है| जैसे –मैं , तू, आप, यह, वह, सो, जो, कोई, कुछ, कौन, क्या ये ग्यारह होते है |

सर्वनाम शब्द ‘सर्व’ और ‘नाम’ शब्दों से मिलकर बना है, जहाँ ‘सर्व’ शब्द का अर्थ ‘सभी’ या ‘सब’ तथा ‘नाम’ का अर्थ हिंदी व्याकरण में ‘संज्ञा’ से लिया जाता है। अतः हम कह सकते हैं कि- वे सभी शब्द सर्वनाम हैं, जिनका प्रयोग संज्ञा के स्थान पर किया जाता है। 

सर्वनाम के उदाहरण | Sarvanam Ke Udaharan

  • मै बाजार जा रहा हूँ
  • यह घर मेरे दादाजी ने बनवाया था।
  • मैंने आज व्यायाम नहीं किया।
  • तुम एक बहादुर लड़की हो।
  • कोई आ गया तो क्या करोगे ?
  • उसने कुछ नहीं लिया
  • वह कौन है, जो खेत में घुस रहा है?
  • पिताजी कल किसकी बात कर रहे थे?
  • अपने से बड़ो का आदर करना चाहिए
  • वह एक खिलाड़ी भी है 
  • मेरी माँ उसकी नानी है 
  • क्या तुम उसको जानते हो?
  • क्या आप  रोहित को  जानते हैं?

सर्वनाम का प्रयोग

सर्वनाम का उपयोग भाषा को सुंदर बनाने के लिए तथा संज्ञा शब्दों की पुनरावृत्ति को कम करने के लिए सर्वनाम शब्दों का प्रयोग किया जाता है। जैसे: रोहित एक चालाक आदमी है। रोहित दूसरों के साथ अच्छा व्यवहार नहीं करता है। रोहित की एक बेटा है। रोहित अपने बेटा से बहुत प्यार करता है। यहाँ रोहित शब्द की पुनरावृत्ति हो रही है। इस तरह एक शब्द कि बार-बार पुनरावृत्ति होने से भाषा की सुंदरता में कमी आती है। सर्वनाम शब्दों का प्रयोग इसी पुनरावृत्ति को ख़त्म करने के लिए किया जाता है।

अब यदि इस उदाहरण में हम सर्वनाम शब्दों का प्रयोग करते हैं तो, वाक्य कुछ इस तरह बनेंगे-

 एक चालाक आदमी है। वह दूसरों के साथ अच्छा व्यवहार नहीं करता है। उसका  एक बेटा है। वह अपने बेटा से बहुत प्यार करता है।

सर्वनाम के भेद

सर्वनाम के 6 भेद होते हैं। जो निम्नलिखित हैं-

  1. पुरूषवाचक सर्वनाम
  2. निश्चयवाचक सर्वनाम
  3. अनिश्चयवाचक सर्वनाम
  4. प्रश्नवाचक सर्वनाम
  5. संबंधवाचक सर्वनाम
  6. निजवाचक सर्वनाम

पुरुषवाचक सर्वनाम किसे कहते हैं | Purushvachak Sarvanam Kise Kahate Hain

जो पुरुषो (पुरुष या स्त्री ) के नाम के बदले आते है ,उन्हें पुरूषवाचक सर्वनाम कहते हैं। मैं, तू, आप, यह, वह आदि पुरूषवाचक सर्वनाम हैं।

जैसे – मैं, हम (वक्ता द्वारा खुद के लिए), तुम और आप (सुनने वाले के लिए) और यह, वह, ये, वे (किसी और के बारे में बात करने के लिए)

पुरूषवाचक सर्वनाम तीन प्रकार के होते है –

  1. उत्तम पुरुष
  2. मध्यम पुरूष
  3. अन्य पुरुष

उत्तम पुरुष

जिस सर्वनाम का प्रयोग वक्ता/बोलने वाला या लिखने वाला खुद के बारे में बताने के लिए करता है। जैसे: मैं, मुझे, मुझको, मेरा, मेरी, हमारी, हम, हमारा, हमें आदि।

उत्तम पुरुष के उदाहरण:- 

  • मैं एक धार्मिक व्यक्ति हूँ।
  • मैं स्नान करना चाहता हूँ।
  •  इस वाक्य में जो व्यक्ति (मै ) बात कर रहा है, वह स्वयं के बारे में बता रहा है। अतः इसमें उत्तम पुरुषवाचक सर्वनाम है।
  • मैंने आज नाश्ता नहीं किया है।

मध्यम पुरुष

जिन सर्वनाम शब्दों का प्रयोग वक्ता द्वारा बात सुनने वाले के लिए किया जाता है, उन्हें मध्यम पुरूष कहते हैं। ‘तू’ तथा ‘आप’ मध्यम पुरूष होते हैं।

  • तुम बहुत अच्छी हिंदी बोलते हो। 
  • आपके सहयोग के बिना मैं यह सब नहीं कर पाऊंगा।
  • मैं आपको कुछ दिखाना चाहता हूँ।

अन्य पुरुष

जिन सर्वनाम शब्दों का प्रयोग वक्ता एवं बात सुनने वाला किसी तीसरे व्यक्ति या वस्तु के लिए करते हैं, उन्हें अन्य पुरूषवाचक सर्वनाम कहते हैं। ‘यह’ एवं ‘वह’ अन्य पुरूषवाचक सर्वनाम शब्द हैं।

अन्य पुरुष के उदाहरण:- 

  • वह फुटबॉल बहुत अच्छा खेलता है।
  • यह मेरा घर है।
  • वह मेरा घर नहीं है।
  • यहाँ मेला लगता है

निश्चयवाचक सर्वनाम किसे कहते हैं

जिन सर्वनाम शब्दों से किसी निश्चित व्यक्ति या वस्तु का बोध होता है, उन्हें निश्चयवाचक सर्वनाम कहते हैं। या निकट या दूर के व्यक्तियों या वस्तुओं का निश्चयात्मक संकेत जिन शब्दों से व्यक्त होता है ,उन्हें निश्चयवाचक सर्वनाम कहते हैं जैसे :-यह,वह,ये,वे,

निश्चयवाचक सर्वनाम के उदाहरण:- 

  • यह मेरी पुस्तक है। 
  • वह उनकी मेज है |
  • ये मेरे हथियार है |
  • वे तुम्हारे आदमी है |

अनिश्चयवाचक सर्वनाम किसे कहते हैं 

जिन सर्वनाम शब्दों से किसी निश्चित व्यक्ति या वस्तु का बोध नहीं होता है, उन्हें अनिश्चयवाचक सर्वनाम कहते हैं। ‘कोई’ एवं ‘कुछ’ अनिश्चयवाचक सर्वनाम हैं। 

अनिश्चयवाचक सर्वनाम के उदाहरण:

  • वहां कोई तो था।
  • उसने कुछ नहीं लिखा |
  • कोई आ गया तो क्या करोगे |
  • कुछ गड़बड़ है।

अतः वाक्य में ‘कोई’ शब्द अनिश्चयवाचक सर्वनाम है। इस वाक्य में स्पष्ट नहीं है कि वहां कौन था। अतः अनिश्चयवाचक सर्वनाम वाले शब्दों में अनिश्चितता बनी रहती है।

  • Nota :- कभी -कभी कुछ शब्द -समूह भी अनिश्चय सर्वनाम के रूप में प्रयुक्त होते है | जैसे
  • कुछ न कुछ
  • कोई न कोई
  • सब कुछ
  • हर कोई
  • कुछ भी
  • कुछ- कुछ

प्रश्नवाचक सर्वनाम किसे कहते हैं | prashnavachak sarvanam kise kahate hain

प्रश्न करने के लिए प्रयुक्त होने वाले सर्वनाम शब्दों को प्रश्नवाचक सर्वनाम कहा जाता है | जैसे-कौन ,क्या किसे ,किसको आदि

प्रश्नवाचक सर्वनाम के उदाहरण:- 

  • कौन आया था?
  • वह क्या कह रहा था ?
  • दूध में क्या गिर गया पड़ा?
  • राम के पिता का नाम क्या है?
  • यह पुस्तक किसकी है?
  • भारत का प्रधानमंत्री कौन है?

संबंधवाचक सर्वनाम किसे कहते हैं | Sambandh Vachak Sarvanam Kise Kahate Hain

जिस सर्वनाम से किसी दुसरे सर्वनाम से सम्बन्ध स्थापित किया जाए ,उसे संबंधवाचक सर्वनाम कहते हैं जैसे -जो ,सो

संबंधवाचक सर्वनाम के उदाहरण:- 

  • जो आया है ,सो जायेगा यह ध्रुव सत्य है |
  • जो मेहनत करेगा सो कामयाब होगा।
  •  इस वाक्य में जो-सो दोनों वाक्यों के बीच संबंध बना रहे हैं।

निजवाचक सर्वनाम किसे कहते हैं 

निजवाचक सर्वनाम है –आप | यह ‘अपने आप’, स्वतः ,स्वयं या खुद के लिए प्रयुक्त होने वाले सर्वनाम है |

दूसरा परिभाषा –जिन सर्वनाम शब्दों का प्रयोग कर्ता स्वयं के लिए करता है, उन्हें निजवाचक सर्वनाम कहते हैं। आप, अपना, स्वयं आदि निजवाचक सर्वनाम है।

निजवाचक सर्वनाम के उदाहरण:- 

  • यह कार्य मै आप ही कर लूँगा
  • मैं अपना काम जानता हूँ।

निजवाचक सर्वनाम ‘आप’ का प्रयोग

  1. किसी संज्ञा या सर्वनाम के अवधारण/निश्चय के लिए ; जैसे -मैं आप वहीँ से आया हूँ |
  2. दूसरे व्यक्ति के निराकरण के लिए ; जैसे -वह औरों को नहीं ,अपने को,सुधर रहा हैं |
  3. सर्वसाधारण के अर्थ में ;जैसे -आप भला तो जग भला |अपने से बढ़ो का आदर करना चाहिए |

पुरुषवाचक तथा निजवाचक सर्वनाम में अंतर-

निजवाचक सर्वनाम का ‘आप‘ एवं पुरूषवाचक सर्वनाम का ‘आप’ अलग-अलग है। जहां आप शब्द का प्रयोग श्रोता या पाठक के लिए होता है, वहां यह मध्य पुरुषवाचक सर्वनाम होता है और जहां आप सभी का प्रयोग अपने लिए के अर्थ में होता है वहां निजवाचक सर्वनाम होता है।

अगर आपको किसी वाक्य में निजवाचक सर्वनाम या पुरुषवाचक सर्वनाम पहचानने में परेशानी हो तो, आपको उस वाक्य में ‘आप’ के स्थान पर ‘स्वयं’ या ‘खुद’ शब्द को प्रयोग में करके देखना चाहिए। अगर ऐसा करने से वाक्य के अर्थ में किसी तरह का परिवर्तन नहीं होता है तो, उस वाक्य में ‘आप’ निजवाचक सर्वनाम होगा।

उदाहरण:- 

  • आप यहां के स्पेक्टर हैं।
  •  वह अपने आप कानपुर चला जाएगा।
  • आप कल वहां चले जाना

Sarvanam shabd-

  1. तुम 
  2. वह 
  3. यह 
  4. हम 
  5. वे 
  6. ये 
  7. उनका 
  8. जिनका 
  9. मैं
  10. तू
  11. जो
  12. सो
  13. आप
  14. कोई
  15. कौन
  16. कुछ 

इन्हे भी पढ़े

संज्ञा किसे कहते हैं|संज्ञा sangya – परिभाषा, भेद एवं उदाहरण| Noun in hindi

हिंदी वर्णमाला [Hindi Varnamala]|हिंदी वर्णमाला (स्वर और व्यंजन)|Hindi Alphabet Varnamala

अनुदैर्ध्य तरंग और अनुप्रस्थ तरंग में अंतर

उत्तल लेंस और अवतल लेंस में अंतर,परिभाषा | Difference Between Convex And Concave Lens

सर्वनाम का FAQ questions

सर्वनाम किसे कहते हैं

जो शब्द किसी व्यक्ति या वस्तु के नाम के बदले प्रयोग किया जाता है उसे सर्वनाम कहते है।

सर्वनाम के कितने भेद होते हैं?

सर्वनाम के 6 भेद  होते हैं।
1-पुरुषवाचक सर्वनाम
2-निजवाचक सर्वनाम
3-निश्चयवाचक सर्वनाम
4-अनिश्चयवाचक सर्वनाम
5-प्रश्नवाचक सर्वनाम
6-संबंधवाचक सर्वनाम

उत्तम पुरुष किसे कहते हैं?

जिस सर्वनाम शब्दों का प्रयोग बोलने वाला या लिखने वाला (वक्ता/लेखक) खुद (स्वयं) के लिए करता है उसे उत्तम पुरुष कहते हैं।

मध्य पुरुष किसे कहते हैं?

जिस सर्वनाम शब्दों का प्रयोग वक्त या लेखक सुनने वाले या पढ़ने वाले श्रोता के लिए करें, उसे मध्यम पुरुष कहते हैं।

अन्य पुरुष किसे कहते हैं?

जिस सर्वनाम शब्दों का प्रयोग बोलने वाला (वक्ता) किसी दूसरे व्यक्ति के लिए करें, उसे अन्य पुरुष कहते हैं।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *