यौगिक और मिश्रण में अंतर उदहारण सहित | Difference Between Mixture and Compound

यौगिक और मिश्रण में अंतर | Difference Between Mixture and Compound :- आज आपके लिए topperhub.com आपके लिए विज्ञान के अंतर्गत एक महत्वपूर्ण टॉपिक यौगिक और मिश्रण में अंतर (Difference Between Compound and Mixture) लेकर आए है।

आज आपको इस पोस्ट के माध्यम से इन सवालों का जवाब मिलेगा । जैसे :- मिश्रण और यौगिक में अंतर बताएं, तत्व यौगिक और मिश्रण में अंतर, यौगिक और मिश्रण में अंतर लिखो, मिश्रण तथा यौगिक में अंतर स्पष्ट करें, मिश्रण तथा यौगिक में अंतर स्पष्ट कीजिए, मिश्रण एवं यौगिक में चार अंतर लिखिए, मिश्रण एवं यौगिक में अंतर बताइए।

यौगिक और मिश्रण में अंतर क्या है | Difference Between Mixture and Compound

यौगिक और मिश्रण में अंतर | Difference Between Mixture and Compound
यौगिक और मिश्रण में अंतर | Difference Between Mixture and Compound

आप सभी को यौगिक तथा मिश्रण में अंतर जानने से पहले यह जानना होगा कि यौगिक किसे कहते हैं? मिश्रण किसे कहते हैं?  पदार्थ किसे कहते हैं? तथा  तत्व किसे कहते हैं? इसके पश्चात ही आप मिश्रण तथा यौगिक में अंतर अच्छे से समझ पाएंगे। तो चलिए जानते है –

तत्व किसे कहते हैं ?

तत्व वह शुध्द पदार्थ होता हैं जो एक प्रकार के परमाणु से मिलकर बना होता हैं,तत्व के प्रत्येक परमाणु के नाभिक में समान संख्या में प्रोटोन उपस्थित होते हैं | दुनिया में जितने भी रासायनिक प्रदार्थ हैं. वह सब तत्वों में गिने जाते हैं| तत्व के उदाहरण आक्सीजन, हाइड्रोजन, नाइट्रोजन, सोना और चाँदी आदि

महत्वपूर्ण:- तत्वों को सामान्यत: धातु (Metal),  अधातु (Non -Metal), उपधातु (Metalloid) में वर्गीकृत किया गया है। अब तक 118 तत्व ज्ञात किए जा चुके हैं जिनमें से 94 तत्व प्राकृतिक रूप से पाए जाते हैं तथा शेष 24 तत्व वैज्ञानिक द्वारा प्रयोगशाला में विकसित किए गए हैं, इन सभी तत्वों को रूसी वैज्ञानिक मेंडलीफ द्वारा निर्मित आवर्त सारणी पर आधारित, आधुनिक आवर्त सारणी में परमाणु क्रमांक के अनुसार तत्व को व्यवस्थित किया जाता है।

पदार्थ(matter )किसे कहते हैं ?

कोई भी वस्तु जो स्थान घेरती हो, जिसमें द्रव्यमान हो ओर जिसको हम अपनी 5 इन्द्रियों से महसूस कर सकते हैं उसे पदार्थ कहते हैं। जैसे :- पुस्तक, पेन, बॉल, कुर्सी

यौगिक (Compound) किसे कहते हैं ?

वह शुद्ध द्रव्य जो दो या दो से अधिक तत्वों के निश्चित अनुपात में रासायनिक संयोग करने पर प्राप्त होता है, यौगिक कहलाता है। यौगिक भी तत्वों के समान शुद्ध पदार्थ होते हैं परंतु तत्वों के विपरीत यौगिक को अधिक सरल संघटको  में विभाजित किया जा सकता है।

जैसे :-

  • जल (H2O) – हाइड्रोजन तथा ऑक्सीजन अणुओं के मध्य 2:1 के अनुपात ।
  • नमक (NaCl) – Na और Cl में अणुओं के मध्य 1:1 के अनुपात में संयोजन।

यौगिक को दो भागों में बांटा गया है।

  1. कार्बनिक यौगिक (Organic Compound)
  2. अकार्बनिक यौगिक (Inorganic Compound)

यौगिक की विशेषताएं

  • प्रत्येक यौगिक समांग होता है।
  • यौगिक का गलनांक और क्वथनांक निश्चित होता है।
  • यौगिक का गुणधर्म अपने मूल तत्वों के गुणधर्मों से सर्वथा भिन्न होते है।
  • यौगिक के बनने में ऊष्मा,ध्वनि ,विद्युत, प्रकाश आदि ऊर्जा अवशोषित या उत्पन्न होती है।
  • इसमें तत्वों को भौतिक विधियों द्वारा पृथक नही किया जा सकता है।
  • इसमें में उपस्थित तत्व एक निश्चित अनुपात में होते है।

मिश्रण (Mixture) किसे कहते हैं ?

निश्चित अनुपात में दो अथवा दो से अधिक पदार्थों के मिलने से जिसमें कोई रसायनिक अभिक्रिया न हो तथा सम्मिलित पदार्थों की मूल विशेषताओं में परिवर्तन न हो, मिश्रण कहलाता है।

या दो अथवा दो से अधिक पदार्थों को इस प्रकार मिलाये की वह नए पदार्थ में अपना रासायनिक पहचान बनाये रखे  मिश्रण कहलाता है।

मिश्रण में सम्मिलित अवयवों को विभिन्न भौतिक क्रियाओं,  जैसे –  निस्पंदन (Filtration),  आसवन (Distillation), उर्ध्वपातन (Sublimation) आदि के द्वारा पुनः पृथक किया जा सकता है।

मिश्रण के प्रकार (Types of Mixture)

मिश्रण के 2 प्रकार होते हैं।

  • समांगी मिश्रण (Homogeneous Mixture)
  • विषमांगी मिश्रण (Heterogeneous Mixture)

यौगिक और मिश्रण में अंतर देखे | Difference Between Mixture and Compound

यौगिक (Compound)मिश्रण (Mixture)
दो या दो से अधिक तत्वों को निश्चित अनुपात में संयुक्त होने या मिलाने पर बनते है।दो या दो से अधिक पदार्थों को अनिश्चित अनुपात में मिलाने पर बनता है।
इनके बनने में ऊर्जा का परिवर्तन होता है।इनके बनने में ऊर्जा का परिवर्तन नहीं होता।
किसी यौगिक से इसके अवयवों को भौतिक विधि द्वारा पृथक नहीं किया जा सकता है ।किसी यौगिक से इसके अवयवों को भौतिक विधि द्वारा पृथक नहीं किया जा सकता है ।मिश्रण से इसके संगठक पदार्थों को भौतिक विधियां जैसे – निस्पंदन वाष्पन उर्ध्वपातन आदि के द्वारा पृथक किया जा सकता है।
यौगिक के गुण के संगठक तत्वों से भिन्न होते हैं।मिश्रण में उसके संगठक पदार्थों के सभी गुण पाए जाते हैं ।
यौगिक का संघटन निश्चित होता है। यौगिक में सम्मिलित तत्व द्रव्यमान के एक निश्चित अनुपात में होते हैं। यौगिक का संघटन निश्चित होता है। यौगिक में सम्मिलित तत्व द्रव्यमान के एक निश्चित अनुपात में होते हैं। मिश्रण का संघटन अनिश्चित होता है अर्थात इसमें सम्मिलित अवयव किसी भी अनुपात में हो सकते हैं।
यौगिक का गलनांक, क्वथनांक एवं घनत्व आदि निश्चित होता है।मिश्रण का गलनांक, क्वथनांक एवं घनत्व आदि निश्चित नहीं होता है।
सभी यौगिक समांग होते हैं।विलियन (यदि समांगी मिश्रण है) को छोड़कर शेष सभी मिश्रण प्रायः विषमांग होते हैं।
यौगिक में एक ही प्रकार के अणु होते हैंमिश्रण में दो या दो से अधिक प्रकार के अणु सकते हैं।
यौगिक और मिश्रण में अंतर | Difference Between Mixture and Compound

महत्वपूर्ण प्रश्न

मिश्रण कितने प्रकार के होते हैं ?

( समांगी मिश्रण और विषमांगी मिश्रण )

नमक पानी का मिश्रण कैसा मिश्रण है ?

समांगी मिश्रण होता है |

सोडा वाटर यौगिक है या मिश्रण ?

सोडा वाटर मिश्रण होता है |

जल क्या है ?

जल एक यौगिक है।

Leave a Comment

Your email address will not be published.